हॉस्टल में छात्र की मौत पर सस्पेंस, शिवराज बोले-दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा

बुधनी। मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के विधानसभा क्षेत्र बुधनी के एक हॉस्टल में एक आदिवासी छात्र की संदिग्ध हालात में हुई मौत का मामला गर्माता जा रहा है। दरअसल सरवन सिंह पिता रूप सिंह निवासी भड़कुल तहसील रेहटी को छात्रावास में मंगलवार रात करीब 4 बजे अचानक पेट में दर्द हुआ। उसके बाद बुदनी स्वास्थ्य केंद्र लाया गया जहा डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया। छात्रों ने पुलिस को बताया गया कि छात्र सरवन पंवार आयु 17 साल को हॉस्टल के पीछे से अपने मोबाइल से अपने साथियों को सूचना दी कि उसकी तबियत खराब हो रही है। छात्र के शरीर पर चोटों के निशान मिले हैं, जिससे मौत पर सस्पेंस बरकरार है। वहीं हॉस्टल पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मौत की जांच होने की बात कही है।

मौत की सूचना पर परिजन बुदनी अस्पताल पँहुचे और छात्रावास प्रभारी महेंद्र गौर के साथ मारपीट कर दी। परिजन ने छात्रावास प्रभारी पर गंभीर आरोप लगाए हैं। वहीं सरवन की मौत के बाद छात्रावास के अन्य बच्चों ने भी हंगामा कर दिया और खाना खाने से इंकार कर दिया, जिसकी सूचना प्रशासन को मिलते ही अधिकारी तत्काल मौके पर पँहुचे, और छात्रों को बमुश्किल शांत कराया। इस घटना की जानकारी कलेक्टर को दी गई, जिसके बाद छात्रावास प्रभारी को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया। जांच में मृतक के हाथ में करंट लगने की भी बात सामने आई है…पुलिस पूरे मामले की बारीकी से जांच कर रही है, छात्र के कमरे को सील कर दिया है।

राजधानी भोपाल के हमीदिया अस्पताल में छात्र का पोस्टमार्टम हुआ, रिपोर्ट में छात्र की मौत तिल्ली फटने की वजह होना बताया है। दूसरी और पुलिस सूत्रों की माने तो आखरी बार उसकी किसी भाई से रात 9:30 बजे हुई है। उसके बाद काल डिटेल डिलीट कर दी गई है। वहीँ दोस्त की बात पुलिस के गले नहीं उतर रही है। साथी दोस्त राहुल अहिरवार का कहना है कि मुझे रात में 2 बजे फोन किया कि में घायल हो गया हूँ और छात्रावास के पीछे पड़ा हूँ…मुझे उठाकर ले जाओ। राहुल ने अपने साथी छात्रों को जगाया देखा कि मेन गेट पर ताला लगा हुआ है फिर उससे फोन कर चाबी का पूछा, छात्रावास की चाबी सरवन के पास ही रहती थी…तो फिर सरवन गेट का ताला लगाकर बाहर कैसे पंहुचा,वह मेन गेट का ताला खोलकर क्यों नहीं गया। वहीं रूम पार्टनर भी गोलमाल जबाब दे रहे हैं।

शिवराज पहुंचे छात्रावास

छात्र सरवन की संदिग्ध परिस्थिति में मौत बाद प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान बुदनी के छात्रावास पहुंचे। हॉस्टल की अव्यवस्था और गंदगी को देखकर नाराज हो गए। उन्होंने ऐसी लापरवाही न करने के सख्त निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि छात्र की संदिग्ध मौत की पूरी जांच होगी…और दोषियों को बख्शा नही जाएगा…साथ ही शिवराज बोले की पीड़ित परिवार की आर्थिक मदद के लिए सरकार से बात करूंगा।

Related posts