शोभा ओझा ने केंद्र को कोसा: राहत राशि नहीं दे रही केंद्र सरकार…और भाजपा सांसद साधे चुप्पी

इंदौर। मध्यप्रदेश में अतिवृष्टि से ग्रामीण इलाकों और फसलों को बहत नुकसान हुआ था। जिसकी राहत राशि राज्य सरकार केंद्र सरकार से मांग रही है। लेकिन केंद्र ने अब तक राहत राशि नहीं दी है। इसी को लेकर मध्यप्रदेश कांग्रेस मीडिया सेल की अध्यक्ष शोभा ओझा ने केंद्र सरकार पर कटाक्ष किया है। उन्होंने केंद्र सरकार पर मध्यप्रदेश के साथ भेदभाव पूर्ण रवैया अपनाते का आरोप लगाते हुए कहा कि केंद्र ने मध्यप्रदेश को कोई सहायता नहीं दी। वहीं इस मामले पर भाजपा सांसदों का चुप्पी साधना शर्मनाक बात है। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में अतिवर्षा एवं बाढ़ से प्रदेश के 39 जिलों की 284 तहसीले प्रभावित हुई हैं। सर्वाधिक नुकसान प्रदेश के किसानों का हुआ है। कांग्रेस सरकार ने केंद्र सरकार से 6 हजार 600 करोड़ रुपए की मांग की है…लेकिन केंद्र प्रदेश के साथ सौतेला व्यवहार कर रही है।

वहीं पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर हमला करते हुए उन्होंने कहा कि शिवराज घोषणावीर बनकर रह गए हैं। शिवराज बिना सत्ता के बिन पानी की मछली की तरह तडप रहे है उनके संरक्षण में माफिया राज चल रहा था। सीएम कमलनाथ प्रदेश की जनता के लिए काम कर रहे है। भाजपा नेताओं को चाहिए कि नोटंकी न करे बलकी प्रधानमंत्री—गृह मंत्री को जगाएं उनसे प्रदेश को राशि देने की बात कहें, नहीं तो आने वाले समय में जनता भाजपा को सबक सिखाएगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 28 सांसद व पांच केंद्रीय मंत्री और 108 विधायक हैं। क्या इनकी प्रदेश की जनता के प्रति जवाबदेही नहीं है। यह लोग केवल बयानबाजी करते हैं, अगर किसान हितेषी होते तो इनके राज में किसान आत्महत्या नहीं करते, मंदसौर में किसानों को गोली नहीं मारी जाती। भाजपा की बातों में आकर जनता गुमराह नही होने वाली है, हाल ही में भाजपा के झूठ को जनता ने झाबुआ उपचुनाव में बता दिया है।

Related posts