शहीद के पोते की दो टूक, चंद्रशेखर की मूर्ति स्थापित नहीं हुई तो बैठेंगे उपवास पर

भोपाल। राजधानी भोपाल में चंद्रशेखर आजाद की मूर्ति हटाकर पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन सिंह की प्रतिमा को स्थापित कर दिया गया था। जिसके बाद से इस मामले ने तूल पकड़ लिया है। इस पूरे मामले को लेकर आजाद के पोते अमित चन्द्रशेखर आजाद सामने आ गए हैं। उन्होंने कहा कि शहर को व्यवस्थित करना हमें स्वीकार है। लेकिन शहीद की मूर्ति हटाकर दूसरे की मूर्ति लगाना शहीद का अपमान है। जिन क्रांतिकारियों ने इस देश को अपने रक्त से सीचा। उनकी मूर्ति को हटा दिया गया। 3 साल पहले चंद्रशेशर आजाद की प्रतिमा लगी हुई थी। यह कहकर हटा दिया कि ट्रैफिक जाम होता है। लेकिन उनकी जगह पर किसी और की प्रतिमा लगाना घोर अपमान है। अमित ने सरकार को मूर्ति लगाने की 2 दिसंबर तक कि मोहलत दी है…अगर तब तक मूर्ति स्थापित नहीं हुई तो वे राजधानी में उपवास पर बैठ जाएंगे…और जबतक बैठे रहेंगे जब तक शहीद को उनका सम्मान नहीं मिल जाता।

Related posts