विश्वास सारंग का खुला आरोप, अंडे का फंडा कांग्रेस का हथकंडा

भोपाल। मध्य प्रदेश की सियासत में इस वक्त सबसे ज्यादा जिसकी चर्चा है वे है अंडा…जी हां अंडा इस वक्त सूबे की राजनीति का स्टार बन गया है। आंगनबाड़ियों में अंडा परोसे जाने को लेकर भाजपा लगातार इसका विरोध कर रही है। दरअसल मध्यप्रदेश सरकार ने दोपहर के भोजन में बच्चों को अंडे दिए जाने का फैसला लिया है। इस का भाजपा के विधायक विश्वास सारंग ने कड़ा ऐतराज जताया है।

उन्होंने कहा है कि हमने अंडा परोसने का विरोध किया था यह बहुसंख्यक समाज के साथ मजाक किया जा रहा है, और धार्मिक भावनाओं के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। अंडे का फंडा कांग्रेस का हथकंडा है विश्वास ने आरोप लगाया कि अंडे के पीछे एक बहुत बड़ा भ्रष्टाचार किए जाने की कोशिश हो रही है। इसके पीछे जरूर कोई ना कोई कांग्रेस का नेता है सरकार बाकी सब भूलकर अंडे पर ध्यान लगा रही है, जो कि गलत है।

विश्वास सारंग यहीं नहीं रूके उन्होंने आगे कहा कि पिछले 11 महीने में सरकार ने विकास के एजेंडे को झूठ बताया है और केवल श्रेय लेने की राजनीति अब तक की मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार ने किया है। वहीं नर्मदा विस्थापितों के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि विस्थापितों की मांग भी होनी चाहिए यह बीजेपी पहले से आवाज उठाती रही है। राइट टू हेल्थ का विधेयक लाने पर विश्वास सारंग ने कहा कि केवल पब्लिसिटी स्टंट है। क्योंकि मोदी सरकार इसके पहले ही राइट टू हेल्प यानी आयुष्मान भारत योजना शुरू कर चुकी है। लेकिन आयुष्मान योजना मध्य प्रदेश सरकार ने लागू करने में आनाकानी की थी। अब केंद्र सरकार की योजना का फायदा उठाने के लिए मध्यप्रदेश सरकार इस तरह के राजनीतिक हथकंडा को इस्तेमाल कर रही है अच्छा होता कि केंद्र की योजनाओं का ही सही ढंग से प्रदेश में क्रियान्वयन कर लिया जाता

Related posts