लोकतंत्र को चुनौती देना चाहती है भाजपा: जीतू पटवारी

भोपाल। मध्यप्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव आज शुक्रवार को विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति से मिलने उनके आवास पहुंच गए। दरअसल गोपाल भार्गव विधायक प्रहलाद लोधी की सदस्यता बहाल करने की बात करने पहुंचे थे। इस मुलाकात का कांग्रेस ने विरोध किया है। मध्यप्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी ने कहा है कि भाजपा की आदत है लोकतंत्र को ताक पर रखने की। कोर्ट के निर्णय के बाद भी विधानसभा अध्यक्ष से मिलने से पता चलता है कि भाजपा लोकतंत्र को चुनौती देना चाहती है। सुप्रीम कोर्ट की गाइड लाइन है दो साल की सजा मिलने पर किसी को भी संविधानिक पद पर नहीं रख सकते लेकिन भाजा लोधी की सदस्यता की बहाली करने में लगी है।

उन्होंने भाजपा पर हमला करते हुए कहा कि भाजपा कभी अर्थव्यवस्था, बेरोजगारी, कृषि, शिक्षा पर बात नहीं करती, बस छुटभैया राजनीति करती है। बीजेपी के अंदर बड़े नेताओं के बीच गुटबाजी चल रही है। उन्होंने प्रज्ञा ठाकुर को रक्षा समिति में शामिल करने पर कहा कि भाजपा अपनी जुबान की पक्की नहीं है। गोडसे को अपना आदर्श मानने वाले सांसद को रक्षा समिति में डालकर सुरक्षा के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं।

फास्ट फूड उद्योगों को बढ़ावा देने पर मंत्री पटवारी ने कहा कि किसानों के रॉ मटेरियल को प्रोसेस्ड फ़ूड में कन्वर्ट करना जरूरी है। तभी उनको उचित मूल्य मिल पायेगा। वहीं एक लाख भर्तियों के आदेश पर उन्होंने कहा कि सीएम कमलनाथ का प्रयास है कि सबको रोजगार मिले। हर श्रेणी में भर्ती होगी।
छात्र संघ चुनाव पर उन्होंने कहा कि जांच चल रही है, जैसे ही रिपोर्ट आएगी तारीखों का ऐलान कर दिया जाएगा।

Related posts