मप्र क्राइम: फिरौती के लिए 15 साल के मासूम की हत्या, नरबलि की आशंका

मुरैना। एक नाबालिग किशोर को अपने दोस्त पर भरोसा करना महंगा पड़ गया। दोस्त उसे बहला फुसलाकर अपने साथ ले गया और उसके तांत्रिक पिता ने बेरहमी से उसकी हत्या कर दी। तांत्रिक ने उसका कान भी काट दिया। परिजन नरबलि की आशंका जता रहे हैं। पुलिस ने इस मामले में तांत्रिक सहित चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया है, और उनसे पूछताछ जारी है।

जानकारी के अनुसार, जितेंद्र सिंह गुर्जर डोंडरी गांव में रहते हैं। उनका 15 साल का बेटा अंशुल गुर्जर 17 नवंबर को अपने घर से गायब हो गया था। परिजनों ने उसे हर जगह तलाश किया। जब उसका कुछ पता नहीं चला तो थाने में शिकायत की। किशोर की अंतिम बात उसके दोस्त अमित जोशी से हुई थी। पुलिस ने जब उससे पूछताछ की तो वे टूट गया और उसने हत्या की बात बता दी। उसने बताया कि सुबह दौड़ने के बहाने से उसने उसे बुलाया था। पुलिस ने उसकी निशानदेही पर उसके पिता तांत्रिक धारा जोशी और दो लोगों को हिरासत में ले लिया है।

धारा जोशी ने बताया कि किशोर का अपहरण फिरौती के लिए किया था। लेकिन जब उसे संभाल नहीं पाए तो उसकी हत्या कर दी। उसकी निशानदेही पर पुलिस ने अंशुल के शव को बरामद कर लिया, शव का एक कान कटा हुआ था। वहीं मृतक के परिजनों ने नरबलि की आशंका जताई है। पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही है।

Related posts