मप्र को शांति का टापू बनाये रखें, न टूट पाए भाईचारा: शिवराज सिंह चौहान

भोपाल। देश के सर्वोच्च न्यायालय ने अयोध्या मसले पर फैसला सुना दिया है। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अगुवाई में संवैधानिक पीठ ने फैसला सुनाते हुए विवादित भूमि पर रामलला का हक माना है। साथ ही मुस्लिम पक्ष को अलग जगह जमीन देने का आदेश दिया गया है। इस फैसले के बाद मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कोर्ट के फैसले का हम सब सम्मान करें…आदर करें और स्वागत करें…इसमें किसी की हार नहीं हुई है। हमारा देश एक ऐतिहासिक और प्राचीन राष्ट्र है हम ने दुनिया को शांति का संदेश दिया है। मैं सभी से अपील करता हूँ भाईचारा प्रेम सद्भाव बनाये रखें। सब मिलकर शांति के लिए काम करें, खास कर मध्यप्रदेश को शांति का टापू बनाये रखें, भाईचारे को किसी भी कीमत पर टूटने न दें। वहीं जब उनसे पूछा गया कि फैसले से भाजपा को सियासी नफा नुकसान होते देखते हैं तो इस पर उन्होंने सिर्फ इतना ही कहा कि यह फैसला किसी पार्टी का नहीं है।

Related posts