भोपाल में डंक मार रहा डेंगू, 4 लोगों की हुई मौत

भोपाल। खतरे का अलार्म बज चुका है। बारिश के बाद जगह-जगह हुए जलभराव ने मच्छरों को जन्म देना शुरू कर दिया है। नतीजा सामने है, अस्पतालों में मरीजों की भीड़ लगने लगी है। प्रदेश में कई लोग बीमार हैं और राजधानी भोपाल में ही अब तक डेंगू ने चार लोगों की जान ले ली है। बता दें कि राजधानी भोपाल में इस साल 10 महीने में करीब 11 सौ मरीज़ डेंगू की चपेट में आए हैं। शहर में फैले मच्छरों से बच्चे बूढ़े और जवान सभी दहशत में हैं। सरकारी सहित प्राइवेट अस्पताल में मरीजों की संख्या बढ़ रही है।

भोपाल में डेंगू लोगों को डंक मार रहा है। सबसे स्वच्छ राजधानी का तमगा हासिल कर चुका भोपाल डेंगू से अछूता नहीं है। यहां डेंगू के मरीजों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। चार लोगों की तो जान ही ले ली, और मौतों के लिए स्वस्थ्य विभाग जिम्मेदार रहा। दरअसल उसका कारण यह है कि इस बार डेंगू का फैलाव रोकने के लिए माइक्रो प्लानिंग के तहत वॉर्ड स्तर पर टीमें नहीं बनाई गई। प्लानिंग के तहत कुल 170 टीमें बनायी जाना थीं। लेकिन स्वास्थ्य विभाग ने सिर्फ 42 टीमें बनाईं। वहीं शहर में फॉगिंग सिर्फ नाममात्र ही की गई। तीसरा और बड़ा कारण यह था कि शहर में लार्वा सर्वे होना था, लेकिन उसमें भी लापरवाही बरती गई। वहीं जिन लोगों के घर लार्वा मिला उनके ख़िलाफ चालानी कार्रवाई भी ठीक से नहीं की गई। जिसका नतीजा यह है कि डेंगू ने तेजी से अपने अपने पंख पसार लिए।

Related posts