भोपाल: आर्मी में पदस्थ दंपत्ति की प्रताड़ना से तंग आकर कारोबारी ने लगाई थी फांसी

भोपाल। राजधानी भोपाल के लालघाटी इलाके में एक कपड़ा कारोबारी ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी। कोहेफिजा पुलिस ने इस मामले में मृतक के अपार्टमेंट में ही रहने वाली आर्मी में पदस्थ दंपत्ति को मुजरिम बनाया है। मृतक ने सुसाइड नोट में दंपत्ति पर प्रताड़ना के आरोप लगाए थे। पुलिस ने दोनों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। फिलहाल उनकी अभी गिरफ्तारी नहीं हो सकी है।

जानकारी के अनुसार, 50 वर्षीय ओम प्रकाश मालवीय, तृप्ति होम्स वल्लभ नगर लालघाटी पर रहते थे। वे पेशे से कपड़े के कारोबारी थे। 6 अगस्त 2019 को उन्होंने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी। कोहेफिजा पुलिस को मृतक के पास से एक सुसाइड नोट बरामद हुआ था। जिसमें उन्होंने अपार्टमेंट में ही रहने वाली आर्मी में पदस्थ दंपत्ति अजय नागर और उनकी पत्नी नीलू नागर पर प्रताड़ना के आरोप लगाए थे, वे जाति को लेकर उन पर तंज कसते थे। अपने पद का रौब दिखाकर उन्हें मानसिक तौर पर परेशान किया जा रहा था। दंपत्ति ने उनका जीना दुश्वार कर दिया था।

पुलिस ने सुसाइड नोट की हेंडराइटिंग की जांच की तो पता चला कि वह मृतक की ही हेंडराइटिंग है, और भी कई सबूत दंपत्ति के खिलाफ आए। जिसके आधार पर पुलिस ने दंपत्ति पर आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज कर लिया।

Related posts