बिजली बिल के मुद्दे से भटकाने के लिए संबल योजना में बताया घोटाला: नरोत्तम मिश्रा

भोपाल। शिवराज सिंह चौहान के कार्यकाल में शुरू हुई संबल योजना में घोटाले को लेकर प्रदेश की सियासत गर्मा गई है। कांग्रेस जहां जांच की बात कर रही है वहीं भाजपा सरकार पर भटकाने का आरोप लगा रही है। इसी कड़ी में मध्यप्रदेश के पूर्व जनसंपर्क मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने सरकार पर तंज किया है। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा संबंल योजना के परखच्चे उड़ाए जा रहे हैं। भाजपा के कार्यकाल में संबल योजना में सिर्फ गरीबों को लाभ मिला है, कांग्रेस सरकार सिर्फ भटकाना चाहती हैं। गरीब की योजनाएं पूरी नहीं कर सके तो सहकारिता विभाग में 5000 करोड़ का घोटाले बता दिया, लेकिन उसकी जांच कहा गई..बताएं जरा, बिजली के बिल माफ नहीं कर सके तो संबल योजना पर आ गए। उन्होंने कहा कि संबल योजना में सिर्फ गरीबों को लाभ मिला है….यह सिर्फ भटकाना चाहते हैं। एक साल से केवल जांच ही कर रहे हैं…लेकिन यह सरकार कोई जांच नहीं कर सकती न किसी परिणाम पर आ सकती।

उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार बिजली का बिल भी माफ कम नहीं कर पाए, इसलिए अब जांच की बात कर रही है, कांग्रेस सरकार गरीबों का, बेटियों का हक मारने वाली सरकार है…जनता को धोका देने वाली सरकार है। आज तक बेरोजगारों को भत्ता नहीं दिया। पूरे प्रदेश में भ्रष्टाचार हो रहा है…अवैध कार्य में सरकार के लोग पाए जा रहे हैं। जिस तरह से अधिकारी हटाए जा रहे हैं, किसानों, महिलाओं के मुद्दे पर हम सदन में सरकार को घेरेंगे। उन्होंने कांग्रेस को अज्ञात आशंकाओं से ग्रसित सरकार है बताया। उन्होंने कहा कि गोपाल भागर्व हमारे सर्वमान नेता हैं वे पत्र लिखेंगे तो हम उस पर अमल करेंगे। कांग्रेस ने कहा था कि निर्दलीय विधायक को निगम मंडलों में नियुक्ति देंगे…इस सवाल पर उन्होंने कहा कि यह कुछ नियुक्ति नहीं देने वाले, जनता को धोखा दिया तो उन्हें भी देंगे।

Related posts