फर्जी गरीबी रेखा कार्ड बनाने वाले अब नहीं बचेंगे एसडीएम-तहसीलदार की नजरों से, भोपाल कलेक्टर तरुण पिथोड़े ने दिए टीम गठित करने के निर्देश

भोपाल: जिले में कितने गरीब हैं और अमीर है अब इसका पता खुद घर-घर जाकर निरीक्षण कर एसडीएम और तहसीलदार पता लगाएंगे। दरअसल भोपाल कलेक्टर तरुण पिथोड़े ने यह जांच करने के लिए एक टीम गठित की है जिसमें यह पता लगाया जाएगा कि गरीबी रेखा के अंतर्गत राशन कार्ड पाने वाले परिवार सही में गरीब है या उन्होंने जाली तरीके से राशन कार्ड को हासिल किया है। कलेक्टर ने ना सिर्फ टीम गठित की है बल्कि टीम को ट्रेनिंग भी दी जा रही है कि गरीब और अमीर परिवारों में कैसे फर्क किया जाए और कैसे यह पता लगाया जाए कि राशन कार्ड प्राप्त परिवार सही में गरीब है या नहीं।
ट्रेनिंग के दौरान अधिकारियों को बताया कि 1645 दल गरीब परिवारों के घर-घर जाकर एम-राशन मित्र पोर्टल के माध्यम से सर्वे करेंगे। इसमें वे परिवार के सभी सदस्यों की जानकारी अपलोड करने के साथ उसके घर की फोटो भी खींचेंगे और उसे ऐप पर ही अपलोड करेंगे। सर्वे की रिकॉर्डिंग भी परिवार की जानकारी के साथ पोर्टल पर डाली जाएगी ताकि अमीर और गरीब परिवार की पुष्टि हो सके। ट्रेनिंग के दौरान एसडीएम-तहसीलदारों ने सभी 1645 दलों के सहयोग के लिए टेक्नीकल टीमें गठित करने की भी मांग की गई हैं ताकि सर्वे के दौरान पोर्टल में होने वाली गड़बड़ियों को वे सुधारने में सहयोग कर सकें, नहीं तो सर्वे का डाटा गलत होने पर उसे बदला नहीं जा सकेगा। कलेक्टर तरुण पिथोड़े ने जिला खाद्य आपूर्ति नियंत्रक ज्योति शाह नरवरिया को इन टीमों को गठित करने के निर्देश दिए। जिला खाद्य आपूर्ति नियंत्रक ने बताया कि यह सर्वे आगामी दो से तीन दिन में शुरू होगा। इसके पीछे कारण है फार्म का प्रिंट न हो पाना। जैसे ही सर्वे फार्म आएंगे, उन्हें तत्काल बांटकर सर्वे शुरू कराया जाएगा। भोपाल जिले के 3 लाख 15 हजार 670 पात्रता प्राप्त परिवार (गरीब परिवार), वास्तव में गरीब हैं या नहीं। किसी ने फर्जी तरीके से राशन कार्ड तो नहीं बनवा रखा है। जल्द ही या सच्चाई सामने आ जाएगी। दरअसल कलेक्टर तरुण पिथोड़े एम-राशन मित्र ऐप के माध्यम से दो से तीन दिन में इनका सर्वे शुरू कराने जा रहे हैं। सर्वे कराने जिले के एसडीएम, तहसीलदार, नगर निगम अधिकारियों सहित 120 पर्यवेक्षकों को गुरुवार को ट्रेनिंग दी गई। इस दौरान सभी अधिकारियों को एम-राशन मित्र पोर्टल की जानकारी और सर्वे करने के बारे में बताया गया।

Related posts