पीसी शर्मा का बयान, फ्लोर टेस्ट होगा तो कांग्रेस के पाले में आ जाएंगे कई भाजपा नेता

भोपाल। मध्यप्रदेश के जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने प्रहलाद लोधी की सदस्यता पर उठ रहे सवाल पर कहा कि इस मामले में जनवरी में कोर्ट की कार्रवाई होने जा रही है…इसके बाद जो निर्णय आएगा…उसके बाद इस पर विधानसभा अध्यक्ष फैसला लेंगे। बीजेपी के राजभवन जाने पर उन्होंने कहा कि विधानसभा अध्यक्ष ने नियमानुसार कार्रवाई की है। कोर्ट का मामला है इसमें राज्यपाल का दखल जरूरी नहीं है। उन्होंने कहा कि जब भी भाजपा पार्टी किसी भी बिल पर फ्लोर टेस्ट के लिए आएगी तो भाजपा के दो तीन लोग कांग्रेस में शामिल हो जाएंगे। भाजपा हमेशा कहती है हम सरकार को 7 दिन में गिरा देंगे, हम चाहते हैं कि यह सरकार गिराने के लिए फ्लोर टेस्ट करें, ताकि दूध का दूध और पानी का पानी हो जाए।

वहीं भोपाल में डेंगू से हुई मौत पर उन्होंने अफसोस जताते हुए कहा कि यह निश्चित तौर पर दुर्भायपूण मामला है। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने स्वास्थ्य विभाग और नगर निगम को रोकथाम की पूरी छूट दे रही है…लेकिन और जागरूकता की आवश्यकता है। में स्वास्थ्य मंत्री से कहूंगा कि ज्यादा सुविधाएं बढ़ाएं। वहीं प्याज के बढ़ते दामों पर उन्होंने कहा कि कृषि मंत्री इस पर एक्शन ले रहे हैं। जब पीसी शर्मा से सवाल किया गया कि भाजपा ने सिख दंगों में कमलनाथ का नाम बताया है और 19 नवंबर को सुप्रीम कोर्ट में एसआईटी की पेशी है…इस पर उन्होंने कहा कि सीएम पर इल्जाम लगाने के लिए भाजपा के पास कुछ बचा नहीं है, इसलिए घूमकर कमलनाथ पर इल्जाम लगा देते हैं। उन्होंने कहा कि कोर्ट ने सीएम को क्लीन चिट दे दी है। जितने बड़े सिख समाज के समर्थक कमलनाथ हैं उतना बड़ा कोई नहीं है।

Related posts