ज्यादतियों का नमूना बनी पंजाब पुलिस, ऐसे रखवालों से ऊपरवाला ही बचाए

डेराबस्सी। लोगों की सुरक्षा का दम भरने वाली पंजाब पुलिस आए दिन अपने कारनामों के चलते चर्चा में रहती है। जिस पुलिस से इंसाफ की अपेक्षा की जाती है, वो पुलिस ज्यादतियों का नमूना बन चुकी है। कभी सियासत की शह पर ये तमाशा चलता है तो कभी अफसरशाही की शह पर, तो कभी खुद की मनमर्जी से। सरकार कोई भी हो, पुलिस के तौर तरीके में ज्यादा बदलाव नज़र नहीं आता है। अपराधियों से गुनाह उगलवाने के लिए पुलिस अपराधियों पर गोलियां दाग रही है…एक बार फिर पंजाब पुलिस की कार्यशैली कठघरे में है। प्रदेश में पुलिस का खौफनाक चेहरा सामने आया है। जिसे न पहले सुना होगा न देखा होगा। मामला पंजाब के डेराबस्सी के रामगढ़ रोड पर दफ्फरपुर का है। जहां एक बुजुर्ग को पुलिस ने थर्ड डिग्री यातनाएं दीं। बुजुर्ग पर एक महिला से छेड़छाड़ का आरोप लगा था।

मिली जानकारी के अनुसार, मुलखराज गुरु नानक नगर कॉलोनी, गांव दफ्फरपुर में चार बेटियों और पत्नी के साथ रहता है। वे हरियाणा होमगार्ड में नौकरी करता है। जो कई दिन बाद घर लौटता है। उसके पड़ोस में यादव लाल प्रसाद नाम का व्यक्ति रहता है, जो उसकी पत्नी पर गलत नजर रखता है। 22 नवंबर को जब महिला घर में अकेली थी तो यादव लाल उसके घर में घुस गया और जबरदस्ती की कोशिश करने लगा। पति के आने के बाद महिला ने सारी बात उसको बताई।

इसके बाद महिला ने थाने में रिपोर्ट दर्ज करवाई। पुलिस ने यादव लाल को बुलाया और चौकी में उसके दोनों हाथ एक चारपाई के साथ पीछे बांधे गए। उस पर पैरों व घुटनों से प्रहार किया गया और थप्पड़ मारे गए। बाद में होमगार्ड के इशारे पर पुलिस उसे फिर पीछे कमरे में ले गई जहां पुलिस ने उसकी जीभ पर नंगी तार से करंट लगाया जबकि जख्मी होने पर कानो में दो चिमटियां लगाकर आठ नौ बार करंट लगाया। पुलिस ने उसे तब तक करंट लगाया गया जब तक कि वह अधमरा होकर निढाल न हो गया। जीभ पर करंट लगाने से उसकी जीभ भी काली पड़ गई। वहीं पुलिस ने आरोपों को झूठे बताते हुए कहा कि पुलिस व शिकायतकर्ता पर दबाब बनाने के लिए वह ऐसे हत्थकंडे अपना रहा है। जबकि पीड़ित यादव लाल का कहना है कि उसे झूठे आरोप में फंसाया गया है।

पुलिस की बर्बता की ये कोई एक घटना नहीं है। तारीखों में पुलिसवालों की ऐसी ना जाने कितनी करतूतें दर्ज हैं, जिन्हें सुनकर हैरानी होती है कि क्या ये हमारी हिफाजत करने वाले लोग हैं। अगर रखवाले ऐसे हैं तो आम आदमी को उपर वाला ही बचाए।

Related posts