जल संसाधन मंत्री के बयान पर मिश्रा का पलटवार, गलती स्वीकार करने से समस्या का हल नहीं होता

भोपाल। मध्यप्रदेश के भाजपा नेता नरोत्तम मिश्रा ने जल संसाधन मंत्री हुकुम सिंह कराड़ा के दावे पर बयान दिया है। उन्होंने कहा कि प्राकृतिक नहीं बल्कि जानबूझकर लाई गई बाढ़ थी, और इस बात को खुद जल संसाधन मंत्री ने स्वीकार कर लिया है,
जब गेट खोलना था तब नहीं खोले गए। जिस कारण पानी की मात्रा बड़ी और दो जिससे जिले बर्बाद हो गए…किसान, मवेशी, फसल, मकान बर्बाद हो गए। इसका जिम्मेदार कौन है, गलती स्वीकार कर लेने से समस्या का समाधान नहीं होता। अब दोषियों पर कार्रवाई होना चाहिए। उन्होंने कहा कि विधानसभा में अवसर मिलेगा तो वहां भी दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करूंगा। वहीं जब उनसे मध्यप्रदेश के एक नागरिक सहित दो लोगों को पाकिस्तान के कब्जे में होने पर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि यह चिंता की बात है। केंद्र सरकार प्रयास कर रही है कि वे सकुशल वापस आएं।

वहीं उन्होंने कमलनाथ सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि प्रदेश में कोई नया काम प्रदेश में चालू नहीं किया है। छिंदवाड़ा का मेडिकल कॉलेज भी भाजपा के कार्यकाल में शुरू हुआ था। जो कुछ प्रदेश में था वे भी कांगेस ने बर्बाद कर दिया। कांग्रेस ने 11 महिने में एक ईंट भी नहीं लगाई। जो भाजपा के समय के थे उन्हीं का शिलान्यास कर रहे हैं। 11 महिन के कार्यकाल में कांग्रेस ने किसानों को, जनता को, युवकों को धोखा दिया है। भाजपा द्वारा जनता के हित में चल रही योजनाओं को बंद करवा दिया। यह सरकार कांग्रेस विरोध सरकार है। दो लाख कर्जमाफी केवल छलावा था।

Related posts